राष्ट्रपति विद्या देवी भण्डारीद्वारा विद्यापति पुरस्कार प्रदान कएल गेल

आशिक साह,असार २१।मैथिली भाषामे नेपालमे देल जाएवला सभसँ बडका राशीक पुरस्कार एक समारोह बीच प्रदान कएल गेल अछि । काठमाण्डू स्थित नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठानक सभा हलमे आयोजित ओे कार्यक्रममे राष्ट्रपति विद्या देवी भण्डारी पुरस्कार प्रदान कएलन्हि । नेपाल सरकारद्वारा स्थापित विद्यापति पुरस्कार कोष एकगोटेके दूई लाख आ चार गोटेके एक– एक लाख पुरस्कार प्रत्येक वर्ष दैत अछि ।दूई लाख राशीक नेपाल विद्यापति मैथिली भाषा साहित्य पुरस्कार जनकपुरक मिथिला नाट्य कला परिषदके प्रदान कएल गेल । ओ पुरस्कार मिनापक अध्यक्ष परमेश झा लेलन्हि । तहिना नेपाल विद्यापति मैथिली अनुसन्धान पुरस्कार त्रिभुवन विश्वविद्यालयक प्राध्यापक डा. विरेन्द्र पाण्डे, नेपाल विद्यापति मैथिली अनुवाद पुरस्कार मैथिली सिनेमाक चर्चित निर्देशक एवं संगीतकार मुरलीधर, नेपाल विद्यापति मैथिली पाण्डुलिपी पुरस्कार मैथिलीक चर्चित नाटककार अवधेश पोखरेल आ नेपाल विद्यापति मैथिली कला संस्कृति पुरस्कार गायक नविनकुमार मिश्रके प्रदान कएल गेल ।साहित्यकार रामहृद्य प्रसादक संयोजकत्वमा कोष गठन कएने पाँच सदस्यीय समितिक सिफारिसमे पुरस्कार किछुदिन पूर्व घोषणा कएल गेल छल ।समितिमे डा. आशा सिन्हा, रामसागर पण्डित, पूर्व सांसद महेन्द्रकुमार मिश्र आ डा. श्यामा महतो रहल छलथि । दू लाखक पुरस्कार एहिसँ पूर्व मैथिलीका बरिष्ठ साहित्यकारत्रय डा. राजेन्द्र विमल, रामभरोष कापडि, डा. रेवतीरमण लाल आ रामानन्द युवा क्लबके प्रदान कएल गेल छल ।कार्यक्रम विद्यपति पुरस्कार कोषक संयोजक विजय दत्तक सभापतित्वमे भेल छल । समारोहमे मैथिल िआ नेपाली भाषाक साहित्यकार,कलाकार एवं संस्कृतविदसभक सहभागिता छल ।

कोशी नदीमे नाऊ डुबल , ३६ जनके सकुशल उद्धार

असोज १ । सुनसरीको सप्तकोशी नदीमे  नाऊ  डुबल  अछि । श्रीलंका टापुस  प्रकाशपुर –५ राजावासा आइब रहल नाऊ कोशी नदीमे डुबल छल  । नाउमे बैठल यात्रुके छल से  खुइल नैसकलमुदा  ३६ जनके  सकुशल उद्धार कल गेल अछि  से जानकारी  जिल्ला प्रहरी कार्यालय सुनसरीके  एसपी पोषराज पौडेल कहने अछि  नाउमे  कते  बैठल रहै  से  यकिन नै भेलोस  अखन तक  ३६ जनके  सकुशल उद्धार भेल हुनकर कहब अछि  । पौडेलके कहनाम ३६ जनके  उद्धार भेल छै । हुन्का सबहक स्वास्थ्य अवस्था सामान्य छै । कतेके  स्थानीय स्वास्थ्य संस्थामे उपचार भरहल छै त किछ लोग अपन घर सेहो चैल गेल छैथ । अखिनो उद्धारके काम कायमे रहल   से प्रहरीके कथन छै  सप्तकोशीमे  बाइढबेसी एला स खोजमे किछ समस्या आइब रहल छै  । प्रकाशपुरमे  साप्ताहिक रुपस लगैत आइब रहल हाट  करैके खातिर बहुत  सर्वसाधारण एकेटा नाउमे बैठल  रहै  । स्थानीयबासी, प्रहरी, सशस्त्र प्रहरी तथा नेपाली सेनाके टोली सब  अखिनको खोज तलास के काम चालुए राखने छै  ।

कोसी नदीमें नाऊ पल्टल २२ गोटके बचाएल गेल, २३ गोटे बेपत्ता अछि

कोसी नदीमें नाऊ पल्टल  २२ गोटके बचाएल गेल, २३ गोटे बेपत्ता अछि
✍अशोक कुमार सहनी
अपन मिथिला, १ गते असोज । सप्तकोशी नदीमें सैनदिन ११.३० बजे नाऊ पल्टल २३ गोटे हरारहल अछि ।
सुनसरीके प्रकाशपुरसँ ४५  गोटे  यात्रीलके कोशीके दक्षिणदिसा रहल श्रीलङ्का टापुमें जारहल अवस्थामें नाऊ दुर्घटना भेल अछि । दुर्घटनामें परल २२ गोटे यात्रीके सकुशल उद्धार  केलगेल अछि आ और २३ गोटे सम्पर्क सँ बाहर  रहल अछि सुनसरीके प्रहरी उपरीक्षक पोषराज पोखरेल जी जानकारी देलक ।
यत् नाऊ पल्टल के बाध हरारहलके खोजै केलेल  जिल्ला प्रहरी कार्यालय सप्तरी कोसी ब्यारेजमें प्रहरी खटेने  अछि । जिल्ला प्रहरी प्रमुख एसपी भिमप्रसाद ढकालके नेतृत्वमें ५० गोटे प्रहरी हरारहल सबके खोजैकेलेल कोसी ब्यारेज पुगेल अछि ।
एसपी ढकालके अनुसार ब्यारेजमें  आँखिन प्रहरीसब स्थानियके १० टा नाऊ सेहो खोजै और उद्धार कार्यके लेल नदीमें  लेने अछि आ खोजैरहल अछि । नाऊ पल्टलाके बाध हरारहलसब बाईढ़ के साथी कोसी ब्यारेज आबैसकै तैकेलेल ब्यारेजमें खोजैके  काम और उद्धार कार्य जोर केने छि ढकाल जी जनकारी देलक । येता सुनसरी प्रहरी सेहो कोसी ब्यारेजमें खटाल अछि । कोसीके पाइन काबूमें करै केलेल बनल कोसी ब्यारेज सप्तरी आ सुनसरीके सिमामें परै अछि ।

मैथिली, भोजपुरी, मगही और अंगिका को जल्द मिल सकता है द्वितीय राजभाषा का दर्जा

मैथिली, भोजपुरी, मगही और अंगिका भाषाओं को झारखंड की द्वितीय राजभाषा बनाने की सालों से चली आ रही मांग को लेकर राज्य सरकार काफी गंभीर है और जल्द ही इस पर कोई बड़ा फैसला होगा. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जमशेदपुर में ये घोषणा की है. वे अंतर्राष्ट्रीय मैथिली परिषद के कायक्रम मिथिला दिवस सह मिथिला नववर्ष के मौके पर लोगों को संबोधित कर रहे थे, जहां उन्होंने ये बात कही. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की संस्कृति काफी खुली है जहां सभी प्रकार की संस्कृतियों के लिए पूरी जगह है.
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में झारखंड में मौजूद सभी भाषा-भाषी-संस्कृतियों के वेलफेयर का ख्याल रखा जाएगा. कार्यक्रम में मंत्री सरयू राय भी उपस्थित थे. संबोधन से पहले मुख्यमंत्री रघुवर दास और मंत्री सरयू राय ने संयुक्त रूप से मैथिली भाषा और संस्कृति से संबंधित अशोक अविचल की दो पुस्तकों का विमोचन किया.साथ ही अंतर्राष्ट्रीय मैथिली परिषद के औपचारिक वेबसाइट का भी उद्घाटन किया. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मैथिली भाषियों ने शिरकत की और मुख्यमंत्री की ताजा घोषणा से काफी खुश दिखे.

चार गोटे बच्चाकेँ उद्धार कके अभिभावकसबके जिम्मा लगेलक

चार गोटे बच्चाकेँ उद्धार कके अभिभावकसबके जिम्मा लगेलक
अपन मिथिला लहान , भाद्र २२ गते –
सिरहा जिल्लाके सोठीयाईन गाविस सँ विगत मितिमें हरैल और बिछडल भेल चार गोटे बच्चासबके भारतके मुजफ्फरपुर स् दलित संरक्षण अभियान मंच बस्तीपुर सिरहाके सहयोगमें उद्धार कके जिल्ला प्रशासन कार्यलय सिरहाके आदेशमें ईलाका प्रशासन कार्यलय लहान शाखा अधिकृत पवन कुमार गुप्ताके रोहवरमें काल्हि चारु गोटे बच्चासब के ओकर माई बाप के  जिम्मा लगेने अछि I उद्धार कके एल बच्चासब ८ वर्षीके निरज सदाइ के माई श्रीदेवी सदाइ , १० वर्षीके पवन कुमार सदाइ के माई किसुन देवी सदाइ , १० वर्षीके दिनेश सदाइ के माई सभेर देवी सदाइ आ ९ वर्षीके संजिव मुखिया के बुवा धनराजी मुखियाके जिम्मा लगोलक i बच्चासब अभिभावकके जिम्मा लगाबै बेर में  ईलाका प्रहरी कार्यलय लहानके डिएसपी राज कुमार केसी , मानव अधिकारकर्मी इन्सेकके सिरहा जिल्ला प्रतिनिधि दुर्गा परियार , रेडियो सरगम ९३ मेगाहर्जके अध्यक्ष फिरोज शेख , पत्रकार मनिलाल विश्वकर्मा , दलित संरक्षण अभियान मंचके सुदेश भगत , सुर्य नारायण राम, आ भरभलादमी सब के उपस्थति छेल।।

रंगभेदी पोखरेल के विरोध सब अखिनो नै रुकल अछि सिरहाके लहानमें पोखरेलके पुतला दहन केल गेल

रंगभेदी पोखरेल के विरोध सब अखिनो नै रुकल अछि  सिरहाके लहानमें पोखरेलके पुतला दहन केल गेल
✍अशोक कुमार सहनी।
सिरहा, लहान २४ गते भदौं । सिरहामें मधेश विरोधी एमाले नेता शंकर पोखरेलके पुतला दहन केने अछि । एमाले नेता पोखरेल सामाजिक सञ्जाल ट्वीटरमें सार्वजनिक केने स्टाटसके विरोध करैत संघीय गठबन्धनके नेता, कार्यकर्तासब सिरहाके लहानमें आई पुतला दहन केने संघिय समाजबादी फोरम नेपालके नेता राम दयाल यादब जी जानकारी देलक ।
एमाले नेता पोखरेल मधेशीसब केअपमान करै किसिमके स्टाटस सामाजिक संजाल ट्वीटरमें ट्वीट करल तब पुतला दहन केलि नेता यादब बतोलक । गठबन्धनके नेता , कार्यकर्तासब एमाले नेता पोखरेलके बिरुद्धमें जोर-जोर से नारालगबै पुतला दहन केने मधेश विरोधी और अपमानजनक अभिव्यक्ति नै दैले चेतावनी सेहो  देने छेल । पुतला दहन के बाध आयोजन भेल कोण सभामें फोरम नेता सत्यनारायण यादव, दिपेश कुमार यादव, कृष्ण बहादुर यादव सब  नेता , कार्यकर्तासब भाषण के करम में एमाले नेता पोखरेल ऊपर आक्रोश व्यक्त केने छेल । नेता पोखरेल रंगभेदी अभिव्यक्ति दैके बाध मधेशमें चौतर्फी बिरोध भरहल छै और मधेशके जिल्लासब में पुतला दहन करैके काम जारि रहल छै।
✍अशोक कुमार सहनी

मिथिला स्टूडेन्ट युनियनद्वारा बाढीपिडितके राहत वितरण

दिनेश रसिया,साउन १५,सप्तरी । मिथिलमा स्टूडेन्ट युनियन नेपालदवारा सीतरीक अतिविकट आ टाप्के रुपमे रहल गोबरगाढाके बाढी पिडित बालबालिकाके राहत सामग्री सवरुप शैक्षिक सामग्री बितरण केलक अछि । श्री शारदा नि मा वि गोबरगाढाके प्राङगनमे वितरण क्याल गेल राहत सामग्री स्थानीयके रोहबरमे मिथिला स्टूडेन्ट युनियन नेपालके सदस्यसब अपने हातस विद्यार्थीके हाथधैर पह्चेलक अछि । जम्मा १ सय ७ गोटे विद्यार्थीके राहत वितरण क्यालगेल युनियनके रितेश मैथिल जानकारी देलैन । यातायातके साधन नै भेलासं युनियनके १० गोट युवासभ बोइकके लगभग २० हजारके शैक्षिक सामग्री वितरण केलक अछि । जाहिमे काँपी, कलम, पेन्सिल, चाउचाउ, साबुन, लगात अन्य सामग्री सब रहल छल । आदरनीय धिरेन्द्र प्रेमर्षी जीक विशेश सहयोग ५०००, प्रसतोता नेपालक दिस स प्रदान केलगेल ५००० लगायतके सहयो एकम्स्ट १०००० तत्काल उपलब्ध करौलैन तथा विदेशमे रहल युवा प्रकाश मैथिल दिससं ३१०० लगायत स्थानीय युवा सबके सहयोग स युनियन इ कार्य समपन्न केलक अछि ।

चैनपुर आइडोल केर अडिसन भेल संपन्न: कुल १४० मे सँ २१ प्रतियोगीक चुनाव फाइनल लेल भेल

कुमुदानन्द झा ‘प्रियवर’, चैनपुर (सहरसा)। अक्टुबर ११, २०१५. मैथिली जिन्दाबाद!!
chainpur event4

फोटो साभार: जय हो बन्गाम
आइ क्रान्तिभूमि सहरसाक आदर्श गाम मे ‘चैनपुर आइडोल’ वास्ते राखल गेल अडिसन संपन्न भेल। चैनपुर केर उच्च विद्यालय आ वरिष्ठ नागरिक क्लब मे अडिसन शो राखल गेल छल। चैनपुर २००५ मैट्रीक बैच केर युवा लोकनि एहि प्रतियोगिताक आयोजन कएने छलाह। एहि प्रतियोगिता मे कुल १४० प्रतियोगी भाग लेलनि जाहि मे सँ २१ प्रतियोगी केँ फाइनल शो हेतु चुनल गेल। 
फाइनल १० नवम्बर केँ काली स्थान – चैनपुर मे आयोजित कैल जेबाक समाचार आयोजनकर्ता द्वारा प्राप्त भेल अछि। २१ प्रतियोगी जे फाइनल लेल चुनेला अछि, ताहि मे सँ कुल ३ उम्मीदवार केँ प्रथम, द्वितीय आ तृतीय पुरस्कार देल जायत। यैह ३ सफल प्रतियोगी केँ ए. आर. रहमान म्युजिकल इन्स्टीच्युट, चेन्नई मे गीत-संगीत केर दुनिया मे नीक कैरियर बनेबाक लेल प्रशिक्षित कैल जाएत।
chainpur event3

फोटो साभार: सहरसा टाइम्स
ई कार्यक्रम ग्रामीण स्तर पर आ सेहो महिमंडल चैनपुर मे राष्ट्रीय कार्यक्रम केर पैटर्न पर कैल जेबाक भरपूर सराहना कैल जा रहल अछि। आजुक कार्यक्रम मे निर्णायक केर रूप मे प्रो. कृष्ण कान्त ठाकुर, प्रो. गौतम सिंह, प्रो. भारती सिंह, आर प्रो. अमरेन्द्र मिश्र छलाह जखन कि कार्यक्रम मे अतिथिक रूप मे लोकप्रिय मैथिली-मिथिला अभियानी अमित आनन्द तथा युवा अभियानी झा रूपेश केर गरिमामयी उपस्थिति छल। आयोजनकर्ता यूवासमूह मे उज्जवल ठाकुर मालिक, प्रकाश झा, नितिश कुमार आ समस्त ग्रामीण केर सहयोग सराहनीय रहल। एहि कार्यक्रम मे प्रतियोगी सब भिन्न-भिन्न गाम सँ उत्साहपूर्वक अपन नाम पंजियन करबैत भाग लेलनि आ सब कियो अडिसन मे अपन विलक्षण प्रतिभाक प्रदर्शन कएलनि। एहि तरहक कार्यक्रमक आयोजन सँ समूचा चैनपुर व आसपासक गाम मे खूब प्रशंसा कैल जा रहल अछि। दुनियाक बढैत डेग संग मिथिलाक आदर्श गाम केर बढैत डेग आ खासकय युवा मे प्रतिभाक खोजी केर चौतर्फा चर्चा चलि रहल अछि।   स्रोत:मिथिला जिनाबाद 

विराटनगर केर पारंपरिक मिथिला समारोह बनि गेल अछि जितिया पर्व समारोह: ई. रमाकान्त झा

jitiya 2072विराटनगर, अक्टुबर ७, २०१५.
विगत किछु वर्ष सँ मैथिलानी वसुन्धरा झा केर नेतृत्व मे आयोजन कैल जा रहल मैथिल-मधेशी-थारू महिलाक विशेष पूजा-अर्चनाक परिचायक ‘जितिया पर्व समारोह’ धीरे-धीरे विराटनगर जेकरा मोरंग आ पूर्वी नेपालक राजधानी मानल जाएत छैक ताहि ठाम पारंपरिक मिथिला समारोह केर स्थापित पहिचान भेट गेल अछि – ई बात कहलनि जितिया पर्व समारोह २०७२ केर प्रमुख अतिथि वरिष्ठ समाजसेवी एवं बुद्धिजीवी ई. रमाकान्त झा।
निश्चित रूप सँ वसुन्धरा झा एकटा सृजनशील मैथिलानीक रूप मे स्वयं मे एक संस्था रहबाक कला केँ बेर-बेर प्रमाणित करैत रहली अछि। एहि बेरुक समारोह केर आयोजन अत्यन्त बिपरीत आर प्रतिकूल वातावरण मे करबाक चुनौती केँ सामना करैत – मिथिला-मैथिली-मधेशक सांस्कृतिक पहिचान नहि मेटाय देबाक भार उठेली। पूर्ण रूप सँ असगर नेतृत्वक बागडोर अपना हाथ मे लैत घर-गृहस्थी आ धिया-पुताक पोषण-संभारण करैत ओ जाहि तरहें ‘मुण्डे-मुण्डे-मतिर्भिन्ना’ आ ‘खण्डी बुद्धि’ लेल प्रसिद्ध मैथिल परिवारक महिला, पुरुष, समाजसेवी आदि केँ संङोरैत काज करैत छथि, ई हुनकर कर्मठता आ प्रतिबद्धता केँ सेहो प्रमाणित करैत अछि। एहि बेरका आयोजन लेल दुनू प्राणी दिन-राति खटैत अन्ततोगत्वा एकटा भव्य समारोह केर आयोजन पूर्व परिचित स्थान महेन्द्र मोरंग कैम्पस केर प्रांगण मे, दसों हजार मैथिल केर उपस्थिति मे संपन्न केलनि। विराटनगर मैथिल समाज लेल ई एकटा विशेष गर्व केर परिचायक कार्यक्रम भेल, यैह चर्चा सब तैर कैल जा रहल अछि।
6पैछला शनि दिन यानि ३ अक्टुबर संपन्न एहि भव्य समारोह केर उद्घाटनग दीप प्रज्ज्वल करैत प्रमुख अतिथि ई. रमाकान्त झा द्वारा कैल गेल छल। तहिना एहि विशिष्ट समारोह मे विशिष्ट अतिथिक रूप मे सहायक प्रमुख जिला अधिकारी प्रदीप कँडेल केर संग प्रसिद्ध उद्योगपति-समाजसेवी ताराचन्द खेतान एवं मानव अधिकारकर्मी संजू साह केर उपस्थिति छल। आभा अनुपमा समान महिला अधिकारकर्मी, प्रेम सोनम समान कलाप्रेमीक संग आरो बहुत रास अतिथि लोकनिक संग ई आयोजन पूर्ववत् भव्यताक संग आयोजित कैल गेल छल।
सुप्रसिद्ध गायक विरेन्द्र झा केर मधुर आवाज मे गोसाउनि गीत ‘जय जय भैरवि’ सँ सांस्कृतिक कार्यक्रम केर शुरुआत कैल गेल छल। मैथिली कला व मिथिलाक लोक संस्कृति केर आजन्म सेवा कएनिहार सुप्रसिद्ध नृत्य निर्देशक स्व. चतुर्भुज आशावादी द्वारा स्थापित लोकप्रिय संस्था ‘भानु कला केन्द्र’ केर कलाकार सब द्वारा झिझिया, नट-नटिन आदि लोकनृत्य प्रस्तुत कैल गेल छल। मैथिली लोकगीत ‘एहि ठिना टिकुली हेरा गेलय दैया गै’ पर सेहो एकटा अत्यन्त रोमांचक-मनोरंजक नृत्य केर प्रस्तुति भेल जेकर सराहना हजारों दर्शक जोरदार थोपड़ी आ युवा-युवती द्वारा मैदान मे मंचकेँ संग दैत नृत्य करैत कैल गेल छल।
7देव समाजक कला-संस्कृति प्रतिष्ठान – विराटनगर केर सेहो मंचीय प्रस्तुति मे सहभागिता छल। एहि प्रतिष्ठानक कलाकार द्वारा विभिन्न मैथिली गीत पर नृत्य केर प्रस्तुति समावेश कैल गेल छल कार्यक्रम मे। तहिना मैथिली संचार केर सुपरिचित नाम श्रीमती राधा मंडल केर अध्यक्षता मे संचालित मैथिली सांस्कृतिक मंच – विराटनगर केर कलाकार लोकनि द्वारा हास्य-प्रहसन केर प्रस्तुति कैल गेल छल। संपूर्ण कार्यक्रम केर संचालन सेहो स्वयं राधा मंडल आ संङोर नाटकक लेखक तथा मिनाप-जनकपुर कलाकार प्रकाश प्रेमी द्वारा भेल।
एहि गरिमामय कार्यक्रम मे मैथिली पत्रकारिता सँ जुड़ल अनेको पत्रकार स्रष्टा लोकनि केँ सम्मानित सेहो कैल गेल छल। सम्मानित पत्रकार समाज मे मकालू टेलिविजन सँ नविन कर्ण, हिन्दुस्तान केर जोगबनी प्रतिनिधि वरुण मिश्र, उज्यालो दैनिक केर जितेन्द्र ठाकुर, कान्तिपुर राष्ट्रीय दैनिक केर अबधेश झा, नागरिक – पूर्वेली केर संपादक अजित तिवारी आर नागरिक एफ एम केर निर्देशक अरविन्द मेहता शामिल छलाह। तहिना मैथिल महिला समाज केर उत्थान मे निरंतर योगदान देनिहारि मैथिलानी वंदना चौधरी, रिंकी झा, माफी झा, संझा यादव, सरिता झा, राधा मंडल तथा मीना झा केँ सम्मानित कैल गेल।
9आयोजक समिति केर सक्रिय सदस्या लोकनि द्वारा प्रत्यक्ष सांस्कृतिक कार्यक्रम केर प्रस्तुति सेहो दर्शक लोकनि द्वारा खूब प्रशंसित भेल। स्वागत गीत रिंकी झा तथा रंजना झा द्वारा प्रस्तुत कैल गेल। मैथिली लोकगीत संग प्रीति झा मंच पर प्रस्तुति देलीह। ममता रानी आ दयारानी आमात्य द्वारा मैथिल पिछड़ावर्ग महिला समाज केर सांस्कृतिक झाँकी सहित नगर परिक्रमा करैत कार्यक्रम मे सहभागिता एहि बेरुक कार्यक्रमक एकटा खास विलक्षण प्रस्तुतिक रूप मे गानल गेल।
सांस्कृतिक कार्यक्रमक संग महिला मे घरैया लूरि केँ प्रोत्साहित करबाक लेल पेन्टिंग सँ लैत सिक्की कला आदिक संवर्धन-संरक्षण हेतु सेहो निरन्तर प्रयास होइत रहल अछि। एहि बेर सकुन्तला साह केर नेतृत्व मे सिक्की सँ बनल समान मौनी, पौती, दीप-स्टैन्ड, आदि केर प्रदर्शनी कैल गेल छल। श्रीमती साह द्वारा एहि कला केँ प्रशिक्षण नव पीढी मे करबाक सेहो वचनबद्धता प्रकट कैल गेल छल।
14वृहत् मधेसी नागरिक समाज केर केन्द्रीय अध्यक्ष सूर्यनाथ सिंह द्वारा कार्यक्रमक संयोजन केर भरपूर प्रशंसा कैल गेल आ मधेसी-उत्पीडित-पिछड़ल समाज केरर उत्थान मे एहि तरहक कार्यक्रम बड पैघ योगदान देत ताहि तरहक विश्वास सेहो प्रकट कैल गेल छल। संपूर्ण कार्यक्रम मे संगीत संयोजन राजेश राय केर टोली द्वारा तथा सांस्कृतिक मंचक संयोजन राधा मंडल द्वारा कैल गेल छल।
कार्यक्रमक संयोजिकाक संग अध्यक्षता स्वयं वसुन्धरा झा द्वारा कैल गेल। मैथिली जिन्दाबाद सँ बात करैत ओ समस्त सहयोगी समाज प्रति धन्यवाद ज्ञापन करैत अत्यन्त कम समय मे अत्यधिक सहयोग तथा प्रोत्साहन लेल श्रीमती राजलक्ष्मी गोल्छा, ताराचन्द खेतान, दीनबन्धु गोयल, पवन शारडा, वैष्णवी पुस्तक भंडार केर आनन्द पाण्डे, पूनम देव तथा ई. प्रेमचन्द्र झा केँ विशेष धन्यवाद ज्ञापन केलीह।

आगामी समय मे सेहो एहि कार्यक्रमक महत्व एतबे गणनीय होएबाक पूर्ण आशा संपूर्ण विराटनगर समाज द्वारा राखल जा रहल अछि।                                                           स्रोत; मैथिली जिन्दाबाद